Breaking News

टमाटर कि महंगाई के नाम पर भारत में घोटाला

  



अपने हाल ही में टमाटर की महंगाई का नाम तो सुना ही था  बीते दिनों जब टमाटर महंगा हो गया था तो बहुत से लोग यह सोच रहे थे कि भारत में आखिर जब ज्यादातर परिवार किस है तो यह महंगाई आ क्यों रही है ज्यादातर लोग खेती पर निर्भर हैं भारत के अंदर हालांकि एक चालान तो अब बहुत कम हो गया है पर कुछ किसान अभी भी बाकी है खैर बात मुद्दे पर रहे आप यह सोचते होंगे यह पूछते होंगे  की सब्जियों पर महंगाई बढ़ती क्यों है पर जब

 ज्यादातर आप देखेंगे कि सब्जियों पर महंगाई बढ़ती क्यों है तो उसका सिर्फ एक मात्र ऑप्शन निकलता है सब्जियों की खपत अब सब्जियां जब हर साल पैदा की जाती हैं वह भी 1 साल में दो बार किसान मेहनत करता है रात दिन अपने खेतों के रखवाली करता है उसके बाद भी अगर भारत जैसे विशाल कृषि देश में अगर सब्जियों की कमी हो तो फिर बाकी मुल्कों की बात क्या की जाए दरअसल दोस्तों इस आज की बात हम टमाटर की खपत को

 लेकर यानी टमाटर की हुई महंगाई को लेकर एक राज खोलने वाले हैं 2023 में जब टमाटर की महंगाई से माता पीटना हुआ था आपका सर फोड़ना हुआ था आपका तो आपने पूछा था कि यह महंगाई क्यों हुई दरअसल  स्पेन नमक देश में एक त्यौहार मनाया जाता है बड़ी धूमधाम से जिसको लाल टमाटर कहते हैं इस त्यौहार में इस

 फेस्टिवल में आप टमाटर की तरह होली खेलते हैं जिस तरीके से भारत में रंगों के साथ होली खेली जाती है लगभग लगभग वैसे ही है इस पेन में यह त्यौहार स्पेन के विनोद में यह त्यौहार बड़ी खुशी से मनाया जाता है जिस पर एक

 दूसरे पर टमाटर मारे जाते हैं यानी फेक जाते हैं और यह दुनिया का दुनिया की सबसे बड़ी खान की लड़ाई भी कही जाती है इसको यानी टमाटर खाने की चीज तो खाने से खान की लड़ाई के जाती है लेकिन यह एक दोस्त दूसरे दोस्त पर करता है या फेकता है यह परंपरा स्पेन में 1940 में शुरू हुई थी एक टूरिस्ट अट्रैक्शन बना और भारत से

 स्पेन सिर्फ इस फेस्टिवल के लिए भारी मात्रा में टमाटर एक्सपोर्ट किये जाते हैँ जिससे भारत गरीब किसानो से सस्ते दाम में लेकर आगे महंगे दाम में दूसरे देश को भेजते हैँ 

No comments